देखिए कनक भवन की ये बोलती तस्वीरें, नहीं हटेगी आपकी नजर,देखिए जल्द…..

राम सीता विवाह

बता दें, के धार्मिक कथाओं के अनुसार त्रेतायुग में महारानी कैकेयी ने कनक भवन को श्रीजानकी जी को मुंह दिखाई में भेंट किया था जिस भवन को श्री सीताराम जी ने निजी निवास स्थान के रूप में अपनाया था और विवाह पंचमी के दिन यहां पर विधि विधान से भगवान राम और मां सीता का विवाह करवाया गया।

आइए, तस्वीरों के माध्यम से इस विवाह के साक्षी बनते हैं –

राम सीता विवाह

कनक भवन को श्री सीताराम जी ने निजी निवास स्थान के रूप में अपनाया था।

राम सीता विवाह

सीतारामजी आज भी कनक भवन में निवास करते हैं।

राम सीता विवाह

साधु-संत और श्री कनक बिहारीजी भगवान के प्रेमी उनकी दिव्य झांकी करने के लिए दिन में एक बार कनक भवन जाते हैं।

राम सीता विवाह

विवाह अपने आप में एक प्रकार का व्रत ग्रहण ही है जिसमें वधू पतिव्रत का और वर पत्नीव्रत का संकल्प करते हैं।

राम सीता विवाह

श्रीराम-सीता ने इस व्रत का पूर्णरूपेण पालन कर सर्वोत्तम आदर्श प्रस्तुत किया।

राम सीता विवाह

कनक बिहारी जी अयोध्या धाम

राम सीता विवाह

कनक भवन में श्री सीतारामजी तीन जोड़ी में विराजमान हैं।