ऐसे करें भगवान हनुमान की पूजा, जल्द पूरी होगी सारी मनोकामना

hanuman

मंगलवार का दिन हनुमान के लिए जाना जाता है। कहते हैं सबसे जल्दी प्रसन्न होने वाले और इच्छा फल देने वाले महाबलि हनुमान ही हैं जो सबका उद्धार करते हैं।  इस दिन हनुमान चालीसा का पाठ औऱ सुंदर कांड का पाठ करना तो फलदायी रहता ही है इसके अलावा यदि मंगलवार के दिन बजरंग बाण का पाठ किया जाए तो अति फलदायी होगा। हनुमान जी महाराज के अनेक रूपों में से एक है वज्र रूप। वज्र रूप वाले हनुमान जी को बजरंगबली कहा जाता है। इसलिए बजरंगबली को प्रसन्न करने के लिए बजरंग बाण का पाठ करें। आइये जानते है बजरंग बाण का पाठ करने से मिलने वाला लाभ और पूजन विधि। शनिवार और मंगलवार दोनों में से एक दिन चुन लें।

hanuman2
SOURCE: google

हनुमान जी का एक चित्र या मूर्ति जप करते समय सामने होनी चाहिए। बैठने के लिए आसन का प्रयोग करें। अनुष्ठान करने के लिए शुद्ध स्थान तथा शान्त वातावरण होना आवश्यक है। हनुमान जी के अनुष्ठान में दीपदान का विशेष महत्व होता है। गेंहू, चावल, मूंग, उड़द व काले तिल पांचों अनाजों (गेंहू, चावल, मूंग, उड़द व काले तिल) को अनुष्ठान से पूर्व एक-एक मुठठी मात्रा में लेकर शुद्ध गंगाजल में भिगो दें।

hanuman3
SOURCE: google

अनुष्ठान वाले दिन इन अनाजों को पीसकर उनका दीपक बना लें। बत्ती के लिए अपनी लम्बाई के बराबर कलावे का एक धागा लेकर इसे पांच बार मोड़ लें। हनुमान जी को गूगुल की धूनी सबसे प्रिय इस प्रकार के धागे की बत्ती बनाकर उसे सुगन्धित तेल में डालकर प्रयोग करें। समस्त पूजन काल में यह दीपक जलता रहना चाहिए।

hanuman4
SOURCE: google

हनुमान जी को गूगुल की धूनी सबसे प्रिय है। जप के प्रारम्भ में संकल्प अवश्य लेना चाहिए कि मनोकामना पूर्ण होने पर हम हनुमान जी के निमित्त कुछ न कुछ करते रहेंगे। अब शुद्ध उच्चारण से हनुमान जी की छवि पर ध्यान केन्द्रित करके बजरंग बाण जाप करें।

यदि हर किसी भी कार्य में अड़चन आ रही है तो शनिवार के दिन 21 बार बजरंग बाण का पाठ करने से फायदा होता है। अगर आप कहीं साक्षात्कार देने जा रहे है तो 5 बार बजरंग बाण का पाठ करके जाइये सफलता मिलेगी। यदि आपके व्यापार में निरंतर हानि हो रही है तो अपने व्यापार स्थल पर लगातार 8 मंगलवार बजरंग बाण का पाठ करें या किसी योग्य कर्मकाण्डी पंडित से करवायें। लाभ अवश्य मिलेगा।