Trendingराजनीति

कोरोना ने जिन मजदूरों की रोजी-रोटी छिनी, उनके लिए योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम

कोरोना का खौफ इस कदर फैला हुआ हैं कि लोग आपस में भी मिलने से डर रहे हैं. हो भी क्यूँ ना यह वायरस अब महामारी में तब्दील हो चुका हैं. आपको बता दें चीन के एक शहर से निकला ये वायरस अब पुरे देशों में तबाही का रूप ले चुका हैं. जिसके वजह से मंडी वगैरह भी बंद कर दिया गया हैं. जिससे काफी मजदूर बेघर हो गये हैं. उनकी रोजी रोटी छीन गयी हैं. इस क्रम में योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया हैं. आइये आपको बताते हैं उस फैसलें के बारे में.

योगी सरकार की ओर से सबसे बड़ी राहत दिहाड़ी मजदूरों को दी गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा कि दिहाड़ी मजदूरों के भरण-पोषण के लिए उनकी सरकार निश्चित धनराशि मुहैया कराएगी. इसके लिए उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में गठित कमिटी 3 दिन में अपना रिपोर्ट सौंपेगी. इस कमेटी में कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही और श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य को शामिल किया गया है. योगी सरकार दिहाड़ी मजदूरी करने वालों को एक निश्चित धनराशि आरटीजीएस (RTGS) के माध्यम से उनके बैंक अकाउंट में भेजेगी. जिससे मजदूरों के परिवार का भरण-पोषण हो सके. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम गरीबों की रोजी व रोटी सुनिश्चित करेंगे. हम उनके खाते में पैसे देंगे.

आपको बता दें कि दिहाड़ी मजदूरी करने वालों को कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है. काम बंद होने की वहज से ऐसे मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है. ऐसे मजदूर रोज काम करते हैं और उसके बदले इन्हें मजदूरी मिलती है, इन्हीं पैसों से इनका खर्चा चलता है. योगी सरकार के फैसले के बाद दिहाड़ी मजदूरों को राहत मिलेगी. इसके अलावा योगी सरकार ने सभी शिक्षण संस्थाओं को 2 अप्रैल तक बंद करने का फैसला लिया है. उत्तर प्रदेश में सभी प्रतियोगी परीक्षाओं को भी 2 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है.

Image result for कोरोना की वजह से
Tags
Show More

Related Articles

Close