कौन बनेगा मुख्यमंत्री? 5 चेहरों पर नजर, वो 5 चेहरे जो बन सकते हैं CM !

कांग्रेस की ओर सिद्धारमैया और बीजेपी की ओर से बीएस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद के दावेदार हैं. इन 2 नामों के अलावा 3 और ऐसे नाम हैं, जो सीएम की कतार में हैं.राष्ट्रीय राजनीति के हिसाब से देखें तो यह चुनाव बीजेपी और कांग्रेस दोनों के लिए बेहद अहम है. एक तरफ कांग्रेस अपना ‘किला’ बचाने की कोशिश कर रही है, तो दूसरी तरफ भाजपा कर्नाटक के जरिये ‘दक्षिण का द्वार’ भेदना चाहती है. आइये हम आपको बताते हैं कि अगर राज्य में कांग्रेस, भाजपा या फिर त्रिशंकु सरकार की स्थिति बनती है तो वे कौन चेहरे हैं जो मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार हैं.

Source-Google

1- सिद्धारमैया

चुनाव में कांग्रेस बहुमत पाती है तो सिद्धारमैया मुख्यमंत्री पद के सबसे प्रबल दावेदार हैं. कर्नाटक में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत मिलने पर सिद्धारमैया की ना सिर्फ कर्नाटक बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर भी धाक बढ़ेगी. चुनाव के दौरान वे खुद इसको लेकर दावा भी करते रहे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उनपर भरोसा भी जताते रहे हैं.

2 – बीएस येदियुरप्पा

बीएस येदियुरप्पा बीजेपी के बहुमत पाने की सूरत में मुख्यमंत्री के उम्मीदवार हैं. कर्नाटक में बीजेपी से वरिष्ठ नेता पहले से ही बीजेपी की ओर से घोषित मुख्यमंत्री उम्मीदवार हैं. येदियुरप्पा को भी अपनी जीत का पूरा भरोसा है.येदियुरप्पा अपनी जीत के प्रति इतना आश्वस्त हैं कि उन्होंने मतगणना से पहले ही कई बार शपथ ग्रहण की तारीखों का भी ऐलान कर दिया है.

3 – जी. परमेश्वर

कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वर दलित मुख्यमंत्री के रूप में खड़गे के बाद दूसरे नंबर के चेहरे हैं. 2013 में कांग्रेस को मिली विजय में जी परमेश्वर की अहम भूमिका रही थी. हालांकि, वे खुद अपनी सीट नहीं बचा सके और चुनाव हार गए. इसकी वजह से वे उस समय भी सीएम पद की दौड़ में पीछे रह गए थे. लेकिन इस बार अगर दलित चेहरे की तलाश हुई तो वे इस बार भी दौड़ में मजबूती से बने हुए हैं.

4 – एचडी कुमारस्वामी

ऐसे में जेडीएस के कुमारस्वामी के भी मुख्यमंत्री बनने की संभावनाओं को नकारा नहीं जा सकता है. ये संभावना इसलिए भी बलवती होती है क्योंकि कांग्रेस किसी भी सूरत में भाजपा को सत्ता संभालते नहीं देखना चाहेगी. एग्जिट पोल के मुताबिक जेडीएस किंग मेकर साबित हो सकती है.

5 – मल्लिकार्जुन खड़गे

खड़गे कर्नाटक की बीदर विधानसभा से आते हैं. केंद्र की राजनीति का लंबा अनुभव होने के साथ-साथ वे कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष भी रह चुके हैं.