इस चीज से ज्यादा देर नहीं लड़ पाता कोरोना, हर वक्त रखें अपने साथ

कोविड-19 का केस लगातार बढ़ता जा रहा है। देश को 21 दिन का लॉकडाउन करने के बावजूद निजामुद्दीन के तबलीगी जमात का मामला सामने के आने के बाद संक्रमण केस में और तेजी आई है। एक ताजा अध्ययन में पता चला है कि यह वायरस प्लास्टिक और स्टील पर भी लंबे समय तक जिंदा रह सकता है। यानी बाहर से लाए गए प्लास्टिक से भी संभल कर रहने की जरूरत है।

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित इस रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस किसी सरफेस पर घंटों तक सक्रिय रह सकता है। सिर्फ एक ही ऐसी चीज है जिस पर यह वायरस ज्यादा देर नहीं टिक पाता। रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस प्लास्टिक या स्टील के सरफेस पर तीन दिन से ज्यादा टिक सकता है. जबकि कागज पर कोरोना वायरस 24 घंटे तक जिंदा रह सकता है।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कोरोना वायरस तांबे की चीजों पर सबसे कम समय तक सक्रिय रह सकता है। तांबे से बनी चीजों पर वायरस को निष्क्रिय होने में सिर्फ 3 से 4 घंटे का समय लगता है। तकरीबन 46 मिनट के अंदर तांबे पर इसका आधे से ज्यादा असर कम हो जाता है। ऐसे में तांबे से बनी चीजों का इस्तेमाल करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

  1. कोरोना वायरस के दौरान लॉकडाउन में तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल करना सही रहेगा. यदि ये चीजें कोरोना के कनेक्शन में आ भी जाती हैं तो तय समय में निष्क्रिय भी हो सकती हैं.
  2. घर या टॉयलेट के दरवाजों पर लगे हैंडल इस वक्त सबसे ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं. टॉयलेट और मेन गेट पर यदि हैंडल को सावधानी से इस्तेमाल किया जाए तो बेहतर होगा.
  3. वर्क फ्रॉम होम में भी आप ऑफिस की तरह अपने आस-पास पानी की बोतल रखते होंगे. ये बोतल प्लास्टिक या स्टील की बजाए तांबे की हो तो अच्छा होगा