इरफान खान, ऋषि कपूर के बाद अब सुष्मिता सेन ने हटाया अपनी इस बीमारी से पर्दा

पूर्व मिस यूनिवर्स ने हाल ही खुलासा किया कि एक समय वे भी एक क्रॉनिक डिजीज से गंभीरबीमार हो चुकी हैं लेकिन अपनी हिम्मत से वे इस बीमारी से जीत गईं

हाल ही बॉलीवुड ने इरफान खान और ऋषि कपूर जैसे दिग्गज अभिनेताओं को लाइलाज बीमारियों के कारण खो दिया। जहां इरफान (न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर,जो शरीर में कहीं भी हो सकता है) से पीडि़त थे वहीं ऋषि कपूर ल्यूकेमिया कैंसर से आखिरी वक़्त तक जूझते रहे। अब हाल ही एक और बॉलीवुड सेलिब्रिटी ने अपनी ‘खास बीमारी’ से पर्दा उठाया है जिसे उन्होंने अपनी अदम्य इच्छा शक्ति से बहुत पहले ही हरा दिया था। यह सेलिब्रिटी और कोई नहीं पूर्व ब्रह्मांड सुंदरी सुष्मिता सेन हैं। सुष्मिता सेन ने हाल ही में खुलासा किया कि वह अतीत में एक पुरानी बीमारी से जूझ रही थीं और बच गईं। एडिसंस डिजीज नाम की इस बीमारी से लडऩे के बारे में भावनात्मक कहानी साझा करते हुए, उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट भी लिखी है जिसमें उन्होंने कहा कि उन्होंने कैसे चार साल तक इस ‘बीमारी’ के खिलाफ लड़ाई लड़ी।

ऑटोइम्यून से जुड़ा है रोग


पूर्व मिस यूनिवर्स ने खुलासा किया कि जब उन्हें सितंबर 2014 में एडिसन नाम की बीमारी का पता चला जो ऑटोइम्यून से जुड़ी हुई है तो मुझे ऐसा लग रहा था मानो अब इस लड़ाई में मेरे लिए कुछ नहीं बचा है।सोशल मीडिया पर उस कठिन दौर की याद को ताजा करते हुए उन्होंने लिखा कि मेरी आंखों के नीचे के काले घेरों से मेरे चार साल के लंबे संघर्ष का पता नहीं चल सकता। बॉलीवुड की सबसे फिट्टेस्ट और फिटनेस फ्रीक एक्ट्रैस में शुमार ४४ वर्षीय सुष्मिता ने आगे लिखा कि इलाज के दौरान स्टेरॉयड के असंख्य दुष्प्रभावों ने मेरे शरीर पर बहुत बुरा असर डाला। मैं खुद को रोज समझाती थी लेकिन हर रोज यही लगता था कि मैं यह लड़ाई हार जाऊंगी।

क्या है एडिसन रोग का कारण


शरीर की एड्रिनल ग्रंथियों में होने वाले इस रोग में शरीर पर्याप्त मात्रा में या बहुत कम मात्रा में कोर्टिसोल और एल्डोस्टेरोन नाम के हार्मोन का उत्पादन करता है्र। इसके अभाव में शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली एड्रिनल ग्रंथियों पर हमला करती है। एडिसन बीमारी के कारण एड्रिनल ग्रंथियां विफलहो सकती है जिससे जान को भी खतरा हो सकता है। इस बीमारी से प्रख्यात लेखक जेन ऑस्टेन का 1817 में 41 साल की उम्र में निधन हो गया था। ऐसे ही पूर्व दिवंगत अमरीकी राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी को 1947 में 30 साल की उम्र में एडिसन की बीमारी का पता चला था।

गौरतलब है कि 26 साल पहले पूरी दुनिया को चौंकाते हुए सुष्मिता ने मिस यूनिवर्स का खिताब अपने नाम किया और भारत को दुनिया के नक्शे पर सुंदरियों के देश के रूप में रेखांकित कर दिया। यह पहली बार था जब किसी भारतीय को इस खिताब से नवाजा गया था।