Raksha Bandhan 2020: भाई की कलाई पर इन मुहूर्तों में बांध सकते हैं राखी, इस दिन हैं कई शुभ मुहूर्त

रक्षाबंधन पर बहनें भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए उत्सुक हैं. बहनों में रक्षाबंधन के पर्व को लेकर उत्साह है. बहने रक्षाबंधन के पवित्र त्योहार का पूरे साल इंतजार करती हैं. रक्षाबंधन का महत्व तब और बढ़ जाता है जब शुभ मुहूर्त में बहनें अपने भाई की कलाई पर राख बांधती हैं.

रक्षाबंधन पर राखी बांधकर बहनें जहां भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं वहीं भाई भी अपनी बहनों की रक्षा का वचन देते हैं. राखी बांधने के रक्षाबंधन पर कौन कौन से मुहूर्त हैं, इन बारे में जान लें.

पंचांग: रक्षाबंधन


पंचांग के अनुसार राखी का त्योहार 3 अगस्त को मनाया जाएगा. इस दिन पूर्णिमा की तिथि है विशेष बात ये है कि इस दिन सावन का अंतिम सोमवार भी है. इस कारण से रक्षाबंधन के पर्व का महत्व और भी बड़ जाता है.

रक्षाबंधन का महत्व


पंचांग के अनुसार राखी को शुभ मुहूर्त में ही भाई की कलाई पर बांधा जाना चाहिए. राखी को रक्षा सूत्र भी कहा जाता है. शास्त्रों में रक्षा सूत्र के बारे में गहराई से बताया गया है. महाभारत के युद्ध में युधिष्टिर ने भगवान श्रीकृष्ण के कहने पर सभी सैनिकों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा था. देवराज इंद्र ने भी इसे धारण कर असुरों पर विजय प्राप्त की थी. रक्षा सूत्र को विजय प्रदान करने वाला माना गया है.

इन शुभ मुहूर्त में राखी बांधें

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त-
09:27:30 से 21:17:03 तक

रक्षा बंधन अपराह्न मुहूर्त
दोपहर 01:47:39 से 04:28:56 तक

रक्षा बंधन प्रदोष मुहूर्त
रात्रि 07:10:14 से 09:17:03 तक