ज्योतिष

अभी देंखे: जिनके शरीर पर हैं ये निशान, उन्हें धनवान बनने से कोई रोक नहीं सकता…

जबकि आपने भी सुना होगा, सफलता का एक मात्रा मार्ग ‘परिश्रम’ ही है, लेकिन जब आपको परिश्रम के बाद भी सफलता नहीं मिलती तो इसके कई अन्य कारण भी होते हैं।

हामरे बीच कई सारे लोग ऐसे होते हैं, जो मेहनत के मामले में दिन-रात एक किए हुए हैं, लेकिन फिर भी सफलता उनसे कोसो दूर हैं! जबकि आपने भी सुना होगा, सफलता का एक मात्रा मार्ग ‘परिश्रम’ ही है, लेकिन जब आपको परिश्रम के बाद भी सफलता नहीं मिलती तो इसके कई अन्य कारण भी होते हैं।

Source: Google

ऐसे परिस्थिती में अधिकांश लोगो किसी बाबा या ज्योतिष विद्वानों के शरण में गिर कर अपने सफलता का मार्ग तलाशते हैं! जिसके लिए कई बार आपको मोटी कीमत भी चुकानी पड़ती है। ऐसे में अगर आप भी अपनी सफलता से परेशान है और किसी मोटे फीस वाले बाबा के लपेटे में आ चुके हैं तो आपके लिए ये जानकारियां बड़े ही काम की साबित हो सकती है।

Source: Google

यहां आपको आपके शरीर पर दिखने वाले कुछ ऐसे निशान और उनके महत्व बता रहे हैं, जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि आपके भाग्य में क्या लिखा है? आप कभी धनवान बन सकते हैं या नहीं, आपको भविष्य कैसा रहेगा? ऐसी कई तरह की बातें है जिसे आप अपने आने वाले समय का अनुमान लगा सकते हैं!

शरीर पर निशान और इनकी खासियत

कई लोगों के हथेली के बीच में रथ, चक्र, तोमर,बाण या ध्वज का निशान बना होता, ऐसे लोगों को लेकर शात्रों में बताया गया है कि जिनके पास ये निशान है उन्हें किसी न किसी रूप से शासन करने मौका अवश्य मिलेगा।

Source: Google

जिस लोगों के हथेली के बीच में तिल है, वह व्यक्ति धनवान होगा और उसे सामाज में अधिक मान-सम्‍मान की प्राप्‍ति होगी। हमारे बीच कुछ ऐसे लोग भी है जिनके पैर में चक्र या कमल का निशान है। ऐसे लोगों को लेकर शास्त्रों में लिखा गया है कि उनके पास अधिक धन होता है। ये लोग जमीन-जायदाद और ऐशो आराम की जिंदगी जीते हैं।

Source: Google

इसके अलावा जिनके पैर के तलवे पर तिल होता है, वे लोग अच्छा शासक बनने के योग्य है। इन्हें जीवन में कभी न कभी शासन करने का मौका जरूर ही मिलता है और ये लोग बेहतरीन शासक साबित हो सकते हैं!

Source: Google

आप में से कुछ ऐसे लोग भी होंगे जिने बीच वाले अंगुली के ठीक नीचे मणिबंध तक फैली रेखा साफ-साफ दिख रही है, ऐसे व्यक्तियों के भाग्य में सुख और यश की प्राप्ति का योग्य होता है!

हालांकि धर्म और कर्म दोनों अलग-अलग चीजें हैं, इसलिए न तो कभी धर्म को कर्म के आड़े आने दें और न ही कभी कर्म के आड़े धर्म को लाएं, अपने जीवन में निष्ठा के साथ कर्म करते रहे, सफलता झख मारकर आपके पिछे भागेगी!

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close